ओह नो! तुम्हें कॉफी पसंद है और हम यहां चाय के लिए मरे जा रहे हैं


एक गरम चाय की प्याली हो♦ ♦ ♦

मुझे चाय चाय की इतनी ज़्यादा आदत हो चुकी है कि अब अगर सुबह के समय चाय न मिले तो भयंकर वाला सिरदर्द हो जाता है। इतना बुरा हाल है कि ये पोस्ट लिखते लिखते ही मेरा मन चाय पीने को करने लगा है। जब वो एक चाय का प्याला मिलता है, इतनी खुशी और आराम मिलता है कि बस क्या कहूं…वैसे चाय मिलने की इस खुशी को सिर्फ वही लोग समझ सकते हैं, जो मेरी तरह चाय के दीवाने हैं।

     जहां एक कप  चाय है, मेरे लिए वहां उम्मीद है।

                                       शादी की बात चाय के बिना अधूरी है..

   “शायद मेरी शादी का ख्याल दिल में आया है, इसीलिए मम्मी ने मेरी तुम्हें चाय पे बुलाया है।”

हमारे इंडिया में चाय के बिना रिश्ते भी नहीं जुड़ते। आज भी जब भी लड़के वाले लड़की को देखने के लिए आते हैं, लड़की चाय की ट्रे के साथ ही एंट्री करती है ( अब ये रिवाज धीरे-धीरे बदल रही है)

——————————————————————————————————————————

  • एक कप चाय का और ढ़ेर सारी गपशप- हममें से हर किसी को पसंद है।
  •  चाहे मुलाकात हो या झगड़ा- चाय के बिना सब कुछ अधुरा
  • चाय दिनभर की थकान चुटकियों में गायब कर देती है।
  •  चाय का कप आपकी मुलाकात को कहां से कहां पहुंचा सकता है। 
  • चाय का कप और सारी गलतफहमियां दूर 
  • चाय का कप और प्रमोशन(अब आप सोचते रहें, ये कैसे?)
  • चाहे कुछ भी नया शुरू करना हो, एक चाय से शुरूआत अच्छी होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ओह नो! तुम्हें कॉफी पसंद है और हम यहां चाय के लिए मरे जा रहे हैं

एक गरम चाय की प्याली हो♦ ♦ ♦

मुझे चाय चाय की इतनी ज़्यादा आदत हो चुकी है कि अब अगर सुबह के समय चाय न मिले तो भयंकर वाला सिरदर्द हो जाता है। इतना बुरा हाल है कि ये पोस्ट लिखते लिखते ही मेरा मन चाय पीने को करने लगा है। जब वो एक चाय का प्याला मिलता है, इतनी खुशी और आराम मिलता है कि बस क्या कहूं…वैसे चाय मिलने की इस खुशी को सिर्फ वही लोग समझ सकते हैं, जो मेरी तरह चाय के दीवाने हैं।

     जहां एक कप  चाय है, मेरे लिए वहां उम्मीद है।

                                       शादी की बात चाय के बिना अधूरी है..

   “शायद मेरी शादी का ख्याल दिल में आया है, इसीलिए मम्मी ने मेरी तुम्हें चाय पे बुलाया है।”

हमारे इंडिया में चाय के बिना रिश्ते भी नहीं जुड़ते। आज भी जब भी लड़के वाले लड़की को देखने के लिए आते हैं, लड़की चाय की ट्रे के साथ ही एंट्री करती है ( अब ये रिवाज धीरे-धीरे बदल रही है)

——————————————————————————————————————————

  • एक कप चाय का और ढ़ेर सारी गपशप- हममें से हर किसी को पसंद है।
  •  चाहे मुलाकात हो या झगड़ा- चाय के बिना सब कुछ अधुरा
  • चाय दिनभर की थकान चुटकियों में गायब कर देती है।
  •  चाय का कप आपकी मुलाकात को कहां से कहां पहुंचा सकता है। 
  • चाय का कप और सारी गलतफहमियां दूर 
  • चाय का कप और प्रमोशन(अब आप सोचते रहें, ये कैसे?)
  • चाहे कुछ भी नया शुरू करना हो, एक चाय से शुरूआत अच्छी होती है।
Scroll to top