Furniture Shopping : हाय दिल्ली! जब हमारे लिए नए घर का फर्नीचर खरीदना बना टास्क


चल बनाएं अपना छोटा- सा घर ☺☺

अब जब शादी हो रही है तो अपना एक छोटा सा आशियाना तो बनाना ही पड़ेगा और इसके लिए मैं और अतुल बड़ी भाग-दौड़ कर रहे हैं। अपना घर बनाने और सजाने की खुशी ही अलग होती है। माना, भागदौड़ बहुत ज़्यादा हो जाती है लेकिन एक्साइमेंट की वजह से थकावट का कुछ पता ही नहीं चलता।

अपना छोटा सा घर बनाने की जब बारी आती है, तो आपको घर के लिए सामान खरीदने की ज़रूरत पड़ती है। तो सबसे पहले हमने शुरूआत की रसोई के बर्तनों से, जो हमने दिवाली के टाइम ही खरीद लिए और सेल होने की वजह से हमें काफी किफायती रेट में सारा सामान मिल गया।

इसके बाद घर का फर्नीचर खरीदने की बारी आयी। अब हम दोनों का अपनी पसंद का फर्नीचर लेना था और वो भी बजट में ( साथ ही सामान की क्वालिटी भी अच्छी होनी चाहिए) । इसके लिए हमने सोचा कि क्यों ना पहले एक बार दिल्ली की बेस्ट फर्नीचर मार्केट जाया जाए और सामान देखा जाए, ताकि हमें बजट का भी अंदाजा हो जाए।

हमने पंचकुइया मार्केट से शुरूआत की, हम वहां गए और काफी सामान देखा। इसके बाद हम हम लाजपत नगर की फर्नीचर मार्केट गए और हमें यहां के सामान की मजबूती, क्वालिटी, डिज़ाइन बेहद पसंद आए ( और वो इतने कम बजट में)

इसके बाद फ्री टाइम में हमने कीर्ति नगर की फर्नीचर मार्केट भी देखी( हाय रब्बा! इतना महंगा फर्नीचर.. और ये मार्केट हमारे बजट से बिल्कुल ही बाहर थी) और इसी दौरान हमने नोएडा की भी 1-2 मार्केट का दौरा किया था ।

 तो हमें लाजपत नगर फर्नीचर मार्केट का सामान सबसे ज़्यादा पसंद आया और बेहद किफायती भी लगा। अलग-अलग मार्केट में घूमने के बाद आपको क्वालिटी और वाज़िब रेट का पता चल जाता है।

फिर फाइनली हम फर्नीचर मार्केट गए। अपने लिए बेड, सोफा और कुछ ज़रूरत का सामान पसंद  किया और ये लो, घर का फर्नीचर आ गया।

ये ऐसा सोफा लिया है हमने। बाकी फर्नीचर की फोटो अभी ली नहीं है।

 

Furniture Shopping : हाय दिल्ली! जब हमारे लिए नए घर का फर्नीचर खरीदना बना टास्क

चल बनाएं अपना छोटा- सा घर ☺☺

अब जब शादी हो रही है तो अपना एक छोटा सा आशियाना तो बनाना ही पड़ेगा और इसके लिए मैं और अतुल बड़ी भाग-दौड़ कर रहे हैं। अपना घर बनाने और सजाने की खुशी ही अलग होती है। माना, भागदौड़ बहुत ज़्यादा हो जाती है लेकिन एक्साइमेंट की वजह से थकावट का कुछ पता ही नहीं चलता।

अपना छोटा सा घर बनाने की जब बारी आती है, तो आपको घर के लिए सामान खरीदने की ज़रूरत पड़ती है। तो सबसे पहले हमने शुरूआत की रसोई के बर्तनों से, जो हमने दिवाली के टाइम ही खरीद लिए और सेल होने की वजह से हमें काफी किफायती रेट में सारा सामान मिल गया।

इसके बाद घर का फर्नीचर खरीदने की बारी आयी। अब हम दोनों का अपनी पसंद का फर्नीचर लेना था और वो भी बजट में ( साथ ही सामान की क्वालिटी भी अच्छी होनी चाहिए) । इसके लिए हमने सोचा कि क्यों ना पहले एक बार दिल्ली की बेस्ट फर्नीचर मार्केट जाया जाए और सामान देखा जाए, ताकि हमें बजट का भी अंदाजा हो जाए।

हमने पंचकुइया मार्केट से शुरूआत की, हम वहां गए और काफी सामान देखा। इसके बाद हम हम लाजपत नगर की फर्नीचर मार्केट गए और हमें यहां के सामान की मजबूती, क्वालिटी, डिज़ाइन बेहद पसंद आए ( और वो इतने कम बजट में)

इसके बाद फ्री टाइम में हमने कीर्ति नगर की फर्नीचर मार्केट भी देखी( हाय रब्बा! इतना महंगा फर्नीचर.. और ये मार्केट हमारे बजट से बिल्कुल ही बाहर थी) और इसी दौरान हमने नोएडा की भी 1-2 मार्केट का दौरा किया था ।

 तो हमें लाजपत नगर फर्नीचर मार्केट का सामान सबसे ज़्यादा पसंद आया और बेहद किफायती भी लगा। अलग-अलग मार्केट में घूमने के बाद आपको क्वालिटी और वाज़िब रेट का पता चल जाता है।

फिर फाइनली हम फर्नीचर मार्केट गए। अपने लिए बेड, सोफा और कुछ ज़रूरत का सामान पसंद  किया और ये लो, घर का फर्नीचर आ गया।

ये ऐसा सोफा लिया है हमने। बाकी फर्नीचर की फोटो अभी ली नहीं है।

 

Scroll to top