पीरियड्स + थ्रेडिंग = कभी नहीं


हम सभी ये गलती करते हैं।

पीरियड्स के टाइम थ्रेडिंग और वेक्सिंग कराने की गलती हम सभी ने की ही होगी। कभी आपने ये भी सोचा ही होगा कि पीरियड्स के दौरान ये सब कराने पर इतना दर्द क्यों होता है।

दरअसल, पीरियड्स के टाइम हमारी स्किन बहुत ज़्यादा सेंसिटिव होती है(तभी तो आईब्रो थ्रेडिंग कराते समय दर्द पूरे शरीर में फैल जाता है)। इस टाइम तो ऐसा लगता है कि दुनिया में सिर्फ दर्द ही दर्द है। एक तो मोह माया का दर्द और दूसरी तरफ ये पीरियड्स का दर्द और इसी में अगर आप आइब्रो थ्रेडिंग का दर्द भी जोड़ना चाहती हैं तो आपको दर्द से बेहद प्यार है।

पीरियड्स के टाइम स्किन ज्यादा सेंसिटिव होने के कारण वेक्सिंग या थ्रेडिंग कराने पर लाल हो जाती है या कुछ को स्किन पर रेशेज भी हो जाते हैं। ज़्यादा सेंसिटिव स्किन का मतलब तो समझते ही होंगे आप। तो अब ये गलती कभी न करना। मेरी ये वीडियो भी देख ही लो अब।

पीरियड्स + थ्रेडिंग = कभी नहीं

हम सभी ये गलती करते हैं।

पीरियड्स के टाइम थ्रेडिंग और वेक्सिंग कराने की गलती हम सभी ने की ही होगी। कभी आपने ये भी सोचा ही होगा कि पीरियड्स के दौरान ये सब कराने पर इतना दर्द क्यों होता है।

दरअसल, पीरियड्स के टाइम हमारी स्किन बहुत ज़्यादा सेंसिटिव होती है(तभी तो आईब्रो थ्रेडिंग कराते समय दर्द पूरे शरीर में फैल जाता है)। इस टाइम तो ऐसा लगता है कि दुनिया में सिर्फ दर्द ही दर्द है। एक तो मोह माया का दर्द और दूसरी तरफ ये पीरियड्स का दर्द और इसी में अगर आप आइब्रो थ्रेडिंग का दर्द भी जोड़ना चाहती हैं तो आपको दर्द से बेहद प्यार है।

पीरियड्स के टाइम स्किन ज्यादा सेंसिटिव होने के कारण वेक्सिंग या थ्रेडिंग कराने पर लाल हो जाती है या कुछ को स्किन पर रेशेज भी हो जाते हैं। ज़्यादा सेंसिटिव स्किन का मतलब तो समझते ही होंगे आप। तो अब ये गलती कभी न करना। मेरी ये वीडियो भी देख ही लो अब।

Scroll to top